सेक्स के लिए तड़पा प्रेमी जोड़ा, फिर 4 साल बाद आ ही गया वो दिन

Edited by Super Admin, Updated: 12 Jun, 2024 23:39 PM (IST)

आज हम आपको ऐसे प्रेमी जोड़े की कहानी बता रहे हैं, जो सेक्स करना चाहते थे, पर चांस नहीं बन रहा था। लेकिन अंत में वो दिन आ ही गया। आइए जानें-

अनिल और रेखा दोनों एक दूसरे के पड़ोसी थे। दोनों एक दूसरे के प्यार में थे। लेकिन दोनों अपने प्यार के बारे में घर में बताने से डरते थे। क्योंकि दोनों जानते थे कि उनके परिवारों में झगड़ों की वजह से उनके प्यार को उनके घर से मंजूरी मिलना मुमकिन नहीं है और इतना ही नहीं अगर उन्होंने घर पर अपने प्यार के बारे में बताया तो वे दोनों अपना घर छोड़कर कहीं और चले जाएंगे और इसलिए उन्होंने अपने घर में कभी एक दूसरे के लिए अपने प्यार का इजहार नहीं किया।

इसलिए वे दोनों उनके घर के पास वाले बगीचे में छुप-छुप कर मिलते थे और घंटों बैठकर बिना किसी झिझक के बातें करते थे। क्योंकि उस बगीचे में आमतौर पर कोई नहीं आता था। और अगर कोई आया भी तो बहुत छोटे बच्चे थे। इसलिए वे हमेशा एक ही बगीचे में एक दूसरे से मिलते थे। दोनों पिछले दो चार सालों से एक दूसरे के प्यार में थे। लेकिन उन्होंने अभी तक सेक्स नहीं किया था। दोनों जब भी बगीचे में मिलते एक दूसरे को किस करते थे और गार्डन लगभग खाली ही होता था, लेकिन पिछले कुछ महीनों से सिर्फ किस करने से उनकी हवस नहीं थम रही थी क्योंकि वे अब सेक्स करना चाहते थे। उन दोनों का एक दूसरे के शरीर के प्रति जो आकर्षण था वह मात्र एक चुम्बन से नहीं छूटने वाला था इसलिए उन दोनों ने एक दूसरे के साथ यौन संबंध बनाने का निर्णय लिया।

लेकिन उनका घर अगल-बगल में है, इसलिए उनके लिए एक-दूसरे के घर जाना और सेक्स करना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में दोनों एक मौके की तलाश में थे कि कब वो दोनों के इस घर में अकेले हों। इसलिए उन्होंने कई महीनों तक सेक्स नहीं किया। फिर एक दिन उनके इलाके की एक लड़की से शादी थी। उस शादी में सिर्फ वे दोनों ही नहीं बल्कि पूरी गली के तमाम लोग जाने वाले थे। फिर उन दोनों ने इस मौके का फायदा उठाने का फैसला किया। और फिर आखिरकार शादी का दिन आ ही गया और उस गली के सभी लोग शादी में चले गए। उस गली में सिर्फ ये दोनों ही थे। तभी रेखा अनिल के घर आ गईं। इसके बाद दोनों बगल के कमरे में चले गए।

अनिल रेखा को अपने बिस्तर पर बैठने के लिए कहता है। फिर वह उसके कपड़े उतारने लगा। उसने एक-एक करके उसके सारे कपड़े उतार दिए और फिर उसने अपने कपड़े भी फेंक दिए। फिर उन्होंने रेखा की ब्रेस्ट अपने हाथ में पकड़ ली। और जोर जोर से उसके ब्रेस्ट को दबाने लगा। उसके स्तनों पर उसके हाथों के स्पर्श से वह चौंक गई। उसके निप्पल सख्त हो गए। फिर उसने भी अनिल के लंड को पकड़ लिया और उसके लंड को मसलने लगी। अनिल उसके स्तनों को जोर-जोर से दबाने लगा। और फिर उसने उसके सख्त निप्पलों को खींचना शुरू कर दिया। फिर थोड़ी देर बाद वही ध्यान उसकी योनि की ओर गया। और एक हाथ से उसकी योनी को मसलने लगा। उसकी योनी को रगड़ने से अनीता बहुत कामुक हो गई और वह और भी मजे से उसके लंड से खेलने लगी।

और फिर रेखा बिस्तर पर लेट गई और अनिल ने अपना लंड उनकी योनि में घुसा दिया। जैसे ही उसने अपना लंड अंदर डाला अनीता चीख पड़ी। फिर रेखा को काफी देर तक छूने के बाद अनिल ने वही वीर्य रेखा की योनि में छोड़ दिया। उनके वीर्य निकलने के बाद रेखा पूरी तरह से शांत हो गईं। क्योंकि उसके अंदर की आग बुझ चुकी थी। अनिल भी थकान के मारे अनीता के पास ही लेटा हुआ था। दोनों काफी देर तक उस बेड पर लेटे रहे।

Stay updated by signing up for newsletter